सोने की क्वालिटी और टैक्स की छूट के कारण दुबई बना “सिटी ऑफ गोल्ड”

0
86

एजेंसी/ दुबई/ ई समाचार मीडिया/ शानीर एन सिद्दीकी (दुबई से) / देवेंद्र कुमार टाक : दुबई से हमारे मीडिया पार्टनर शानीर एन सिद्दीकी की एक रिपोर्ट के अनुसार दुबई बना है “सिटी ऑफ गोल्ड” –  आज दुबई का नाम आते ही 2 चीजें जो सबसे पहले जेहन में आती है वह है ऊंची ऊंची इमारतें और सोने के मनमोहक गहने के बड़े-बड़े शोरूम-सोने की क्वालिटी और टैक्स की छूट के कारण दुबई बना “सिटी ऑफ गोल्ड”

सोने की क्वालिटी और टैक्स की छूट के कारण दुबई बना “सिटी ऑफ गोल्ड”

दुबई में जितना प्राकृतिक पीलापन यहां की रेत में है उतना ही खराब पीला यहां का सोना है मगर सिटी ऑफ गोल्ड का दुबई का यह दर्जा हमेशा नहीं था, आज दुबई गोल्ड का व्यापार करने वाले देशों में हांगकांग और अमेरिका से भी ऊपर आ गया है, इस मुकाम तक का सफर 1996 में शुरू हुआ था

जब यहां की सरकार ने दुबई शॉपिंग फेस्टिवल में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सोने की गुणवत्ता की निगरानी और टैक्स का नया सिस्टम बनाया, दुबई कस्टम कार्यालय के अनुसार 2020 के पहले 9 माह में देश में सोने का व्यापार उन 50 अरब डॉलर यानी करीबन 36 खरब रुपए का था, दुबई का यह तेल के बाद सबसे आकर्षित निर्यात है

गोल्ड रेट दुबई की अर्थव्यवस्था में 30% योगदान देता है, यह अनुमान लगाया गया है कि दुनिया के सोने का 20% से 40% हर साल दुबई से होकर गुजरता है, और इसका अधिकांश हिस्सा यहां के प्राइम गोल्ड मार्केट गोल्ड सुख में आता है, 700 से अधिक व्यापारी अब यहां अपना व्यापार करते हैं

प्राइम मार्केट बनने के लिए दुबई ने भौगोलिक स्थिति को तैयार किया : दुबई में दुनिया भर की खदानों से कच्चा माल आता है, 2018 में दुबई में सोने का आयात 20 खरब भारतीय रुपए से अधिक का था सरकार ने यहां की संख्या बढ़ाई है, जिसका सीधा फायदा मिलता है

यहां गोल्ड ब्रोकर टाइम जोन का फायदा उठाते हैं, गोल्ड एक्सचेंज स्थानीय स्तर पर सुबह 6:00 से रात 11:00 बजे तक खुला रहता है, इस प्रकार यह दुनिया के कुछ एक्शन जो में से एक है जो ऑस्ट्रेलिया से अमेरिका के पश्चिमी तट पर हर टाइम जोन को पकड़ता है और सारी दुनिया के गोल्ड के रुझानों पर रोज निगाह रखता है 

आइए हम आपको मुख्य तीन कारणों के द्वारा समझाने की कोशिश करते हैं कि दुबई के सोने की गुणवत्ता एवं विशेषता :

1. सबसे सस्ता सोना दुबई में : दुबई में सोने की कीमतें सरकार की नीतियों और कम टैक्स के कारण किसी भी समय दुनिया के दूसरे देशों से लगभग 10%-12% कम रहती है पर्यटकों के लिए सोना कर मुक्त होता है, जिसकी वजह से लोग दूसरे देशों से शॉपिंग करने के लिए दुबई आते हैं, किसी भी समय बाजार में 40 से 50 टन सोना उपलब्ध रहता है, यही उपलब्धता के कारण सोने की कीमतें दूसरे देशों के बनिस्बत यहां कम होती है

2. एक ही जगह सभी डिजाइन की उपलब्धता : दुबई के सोने का दूसरा बड़ा कारण यह है कि दुबई के मार्केट में दुनिया के सारे डिजाइन एक ही जगह मिल जाते हैं, चाहे हॉन्ग कोंग, सिंगापुर, इटालियन, अरेबिक डिजाइन हो या दक्षिण भारतीय बंगाली डिजाइन- यहां पर सभी डिजाइनर हर समय उपलब्ध रहती है-सोने की क्वालिटी और टैक्स की छूट के कारण दुबई बना “सिटी ऑफ गोल्ड”

3. सोने में मिलावट पर कड़ी सजा का प्रावधान : तीसरा और सबसे मुख्य कारण यह है कि दुबई में सोने की क्वालिटी पर पूरा फोकस किया गया है, यहां पर सरकार द्वारा इन सोने के व्यापारियों पर पूरी नजर रखी जाती है, यहां पर सख्त कानून, सजा व निगरानी के कारण यह कोई सोने में मिलावट की कल्पना भी नहीं कर सकता- इसलिए यहां का सोना 100 फीसदी स्वच्छ पाया जाता है

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here