पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर एचपीसीएल के मैनेजर को घूस लेते पकड़ा

0
80

क्राइम रिपोर्ट/ अजमेर/ ई समाचार मीडिया/ देवेंद्र कुमार टाक : अजमेर एसीबी ने 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते एचपीसीएल के मैनेजर को रंगे हाथों पकड़ा है, रविवार को जयपुर में बड़ी ट्रिप कार्रवाई को अंजाम देकर हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ( एचपीसीएल) के कोटा एरिया मैनेजर राजेश यूको दलाल के मार्फत 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया-पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर एचपीसीएल के मैनेजर को घूस लेते पकड़ा

पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर एचपीसीएल के मैनेजर को घूस लेते पकड़ा

आरोपी द्वारा यह घुस  पेट्रोल पंप दिलवाने के नाम पर मांगी जा रही थी, इसी मामले में टोंक में पेट्रोल पंप संचालक दलाल किशन विजय को भी गिरफ्तार किया गया है, जबकि एसीबी की टीम पंचशील नगर स्थित एचपीसीएल के पूर्व एरिया सेल्स मैनेजर के निवास पर भी छापा मारकर कार्रवाई की है

मकान पर ताला जड़ा हुआ था, 3 घंटे की तलाशी के बाद मकान सील कर दिया गया, किसी कारोबारी ने शिकायत दी थी कि उसे पेट्रोल पंप दिलवाने के बदले कोटा एरिया मैनेजर राजेश 2 लाख रुपए घूस मांग रहा है, यह दोस्तों के पेट्रोल पंप संचालक किशन विजय के मार्फत राजेश तक पहुंचाई जानी थी

शिकायतकर्ता ने जैसे ही 1 लाख रुपए दिए, एसीबी की टीम ने दलाल किशन विजय व राजस्व को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है, समाज की प्रगति व शांति का अगर कोई सबसे बड़ा दुश्मन है तो वह है रिश्वतखोरी, इसके लिए सरकारें एवं एजेंसी है तो अपना काम कर रही है, परंतु लोगों को भी जागरूक होने की आवश्यकता है

लोग अक्सर अपना काम जल्दबाजी में करवाने के लिए और थोड़े से कागजी पर पंचों से बचने के लिए- कार्यालय में बैठे अधिकारियों से लेकर चपरासियों तक रिश्वत देते हैं, यह पूर्णतया गलत है, गैर कानूनी है एवं मानवता के नाते भी इसे अवैध ठहराया गया है- रिश्वतखोरी एक ऐसा अभिशाप है जो समाज को निगल रहा है

जो अधिकारी बड़े-बड़े ऑफिस में बैठे हैं इनको सरकार ने नियुक्ति समाज सेवा के लिए भी हैं जिसके लिए सरकार इनको पूरी तरह से सुविधा के साथ-साथ बड़ी तनखा भी देती है, फिर इनको कोई हक नहीं बनता कि इनके द्वारा किए गए कार्य के बदले यह लोगों से रिश्वत लेने का प्रयत्न करें

सरकार एवं न्यायपालिका को देश में बढ़ते अपराध एवं घूसखोरी को जड़ से मिटाने के लिए कुछ संविधान के एक्ट में संशोधन करके घूसखोरी, बलात्कार, हत्या, एवं मानव व मादक पदार्थों की तस्करी के लिए सख्त से सख्त कानून लाने की आवश्यकता है- इस कानून के तहत किसी भी व्यक्ति विशेष को दोषी पाए जाने पर सजा ए मौत का प्रावधान होना चाहिए- 

इसमें किसी भी तरह की दया- याचना का प्रावधान नहीं होना चाहिए- दोषियों को 1 महीने के अंदर अंदर सजा देने का प्रावधान होना चाहिए- तब जाकर भारत में लोगों में इन अपराधों के प्रति डर/ खौफ जगह का और यह लोग अपराध करने से बचेंगे-पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर एचपीसीएल के मैनेजर को घूस लेते पकड़ा

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here