आदमखोर टाइगर अब आने वाला है सज्जनगढ़ पार्क में

0
48

सेंचुरी रिपोर्ट / उदयपुर/ रणथंबोर : वन विभाग ने तीन लोगों की मौत का जिम्मेदार मानकर सवा साल से जिस टाइगर टी-104 को रणथंबोर के भीड़ में एंक्लोजर में रखा हुआ है, उसे अब उदयपुर शिफ्ट किए जाने पर फैसला लिया गया है, इसे यहां सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में भेजा जाएगा-आदमखोर टाइगर अब आने वाला है सज्जनगढ़ पार्क में

हालांकि इसे टोंक जिले के आमली वन क्षेत्र में भी बेचने की वकालत हो रही थी लेकिन उदयपुर का पक्ष मजबूत है इसलिए इस टाइगर को रणथंबोर के वन्य अभ्यारण से उदयपुर के सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में शिफ्ट किया जाएगा, रणथंबोर के अफसर इसे उदयपुर भेजने के पक्ष में है

आदमखोर टाइगर अब आने वाला है सज्जनगढ़ पार्क में

दूसरी और चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन मोहन लाल मीणा इसे आमली में रखने की बात कर रहे हैं अब विभाग ने संबंधित अफसरों की कमेटी से सारे पहलुओं को देख रिपोर्ट मांगी है, गौरतलब है कि इससे पहले 2015 में रणथंबोर से  टी-24 को भी सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में शिफ्ट किया गया था, इसका नाम उस्ताद था, उस्ताद फिलहाल पूरी तरह स्वस्थ हैं

टी-104 उदयपुर भेजे जाने को लेकर 2 तक : रणथंबोर के अधिकारियों की ओर से इस पार्क को उदयपुर सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क भेजने के पक्ष में तर्क है कि वहां के स्टाफ को पहले से एक बाघ  ‘उस्ताद’ की मॉनिटरिंग का अनुभव है ,उस्ताद पर भी लोगों की जान लेने का आरोप है, दूसरी वजह यह भी है कि आमली रणथंबोर सीसीएफ के अधिकारी क्षेत्र में आता है उनका मानना है कि आमली फिलहाल बाघ छोड़ने के लिए उपयुक्त नहीं है

कमेटी की रिपोर्ट के बाद हुआ फैसला : टी-104 पर फैसले के लिए कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार था, मेरा मानना है कि उदयपुर के बजाय आमली जगह इसके लिए उपयुक्त रहेगी जिसका फिलहाल कोई उपयोग भी नहीं हो रहा है, परंतु कमेटी की रिपोर्ट के हिसाब से वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की गाइडलाइंस के हिसाब से इस बाघ को उदयपुर के सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में भेजना ज्यादा उपयुक्त और सेफ रहेगा -आदमखोर टाइगर अब आने वाला है सज्जनगढ़ पार्क में

न्यूज :- देवेंद्र कुमार टांक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here