कोरोना महामारी में केंद्र सरकार का 6.29 लाख करोड़ का आर्थिक राहत

0
77

एजेंसी/ नई दिल्ली/ की समाचार मीडिया/ बेतवा भूमि समाचार/ देवेंद्र कुमार टाक : कोरोना की मार से बेहाल अर्थव्यवस्था के लिए केंद्र सरकार ने दूसरे आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा कर दी है, यह राहत पैकेज 628993 करोड़ रुपए का है, इस पैकेज में पिछले वर्ष घोषित राहत पैकेज की कई योजनाओं का दायरा बढ़ाया गया है-कोरोना महामारी में केंद्र सरकार का 6.29 लाख करोड़ का आर्थिक राहत

कोरोना महामारी में केंद्र सरकार का 6.29 लाख करोड़ का आर्थिक राहत

और कुछ नई घोषणाएं भी की गई है सबसे ज्यादा राहत हेल्थ सेक्टर को दी गई है वहीं लंबे समय से मंदी से जूझ रहे टूरिज्म सेक्टर को भी बूस्टर डोज दिया गया है, इसके अलावा छोटे कर्जदार को, एम एस एम ई को भी राहत दी गई है, इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम का दायरा भी बढ़ाया गया है

पिछले वर्ष शुरू की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को नवंबर 2021 तक बढ़ा दिया गया है, वही आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को भी एक्सटेंशन दिया गया है, पहले की गई डीएपी फर्टिलाइजर सब्सिडी बढ़ाने की घोषणा के लिए भी सोमवार को राशि की घोषणा की गई, इसमें 25 लाख छोटे उद्यमियों को बिना गारंटी सस्ता लोन देने का प्रावधान रखा गया है

क्रेडिट गारंटी योजना के तहत हेल्थ सेक्टर के लिए 50 हजार करोड़ का लोन, स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 23 हजार करोड़ की अलग से घोषणा की गई है

टूरिज्म सेक्टर को पहली राहत प्रदान करते हुए रजिस्टर्ड ट्रैवल एजेंसियों को 10 लाख और रजिस्टर्ड गाइड को 1 लाख तक का लोन, 5 लाख विदेशी टूरिस्ट को वीजा मुक्त की घोषणा की गई है

आइए हम आपको बताते हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा की गई घोषणा के बारे में :

1. क्रेडिट गारंटी योजना में सेहत पर फोकस : कोरोना प्रभावित सेक्टर के लिए 1.1 लाख करोड़ की क्रेडिट गारंटी योजना दी गई है, इसमें से 50 हजार करोड़ के लोन स्वास्थ्य सेक्टर के लिए मान्य होंगे, इसके तहत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रोजेक्ट के लिए 100 करोड़ तक का लोन लिया जा सकता है

इसका ब्याज भी 7.95% से अधिक नहीं होगा, हालांकि यह सुविधा 8 मेट्रो शहरों में नहीं होगी, बाकी सेक्टर्स के लिए योजनाओं में 60 हजार करोड़ की घोषणा की गई है, अन्य सेक्टर के लिए भी ब्याज की कैंपिंग घटा कर 8.25% रखी गई है

2. कोरोना की तीसरी लड़ से निपटने की भी तैयारी : हेल्थ सेक्टर के लिए 2320 करोड़ की नई योजना की भी घोषणा की गई है, योजना में केंद्र की हिस्सेदारी 15 हजार करोड़ की होगी, बाकी बार राज्य वाहन करेंगे, इस योजना में सबसे ज्यादा फोकस होटल इमरजेंसी तैयारियों, बच्चों के लिए पीडियाट्रिक बेड व ऑक्सीजन सप्लाई पर तथा कोरोना के इलाज के लिए काम में ली जाने वाली मेडिसिन पर होगा

3. टूरिज्म सेक्टर को पहली बार मिली राहत : टूरिज्म सेक्टर की स्थिति को देखते हुए रजिस्टर्ड ट्रैवल एजेंसी और टूरिस्ट गाइड के लिए रात की घोषणा की गई है, लाइसेंस धारी टूरिस्ट गाइड को 1 लाख रुपए और टूरिस्ट एजेंसी को 10 लाख रुपए का लोन  तत्काल मिलेगा

इसकी 100% गारंटर केंद्र सरकार रहेगी, लोन पर प्रोसेसिंग चार्ज लिए लगेगा, इसके अलावा 31 मार्च 2022 तक पहले 5 लाख विदेशी पर्यटकों को वीजा केंद्र सरकार मुक्त जारी करेगी,एक पर्यटक को एक बार ही स्कीम का लाभ मिलेगा, विदेशी पर्यटकों को वीजा की अनुमति मिलते ही आज योजना लागू होगी-कोरोना महामारी में केंद्र सरकार का 6.29 लाख करोड़ का आर्थिक राहत

क्रेडिट गारंटी स्कीम में छोटे कारोबारी को 1 .25  लाख तक लोन आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 31 मार्च 2022 तक 

किसानों को 14775 करोड़ की अतिरिक्त सब्सिडी 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना नंबर 2021 तक 

ईसीएलजीएस में 1.5 लाख करोड़ रूपये अतिरिक्त दिए जायेंगे

गावों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट के लिए 19041 करोड़ खर्च किये जायेंगे 

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here