अंत्येष्टि में भी दलाली -मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के लिए पैसों की मांग

क्राइम रिपोर्ट/ उदयपुर/  ई समाचार मीडिया / देवेंद्र कुमार टाक : करोना काल में एक तरफ लोग जरूरतमंदों की हर संभव मदद के लिए आगे बढ़ रहे हैं, दूसरी और संवेदनहीनता भी सामने आ रही है कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए अवैध वसूली की शिकायतों पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव और अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश कुलदीप चित्रकार ने यह संवेदनहीनता पकड़ी, एडीजे चित्रकार गुरुवार को टीम के साथ यहां सेक्टर-3 और सेक्टर-13 में स्थित मोक्षधाम पर स्टिंग ऑपरेशन किया-अंत्येष्टि में भी दलाली -मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के लिए पैसों की मांग

वे दागिया (अंतिम यात्रा में शामिल परिजन) बनकर मोक्ष धाम पर पहुंचे, सेक्टर-3 श्मशान में कोरोना संक्रमित मृतक की अंत्येष्टि के नाम पर दलालों ने ₹15000 तक मांग ली है, यह अवैध वसूली भी सिर्फ शव को एंबुलेंस से उतारकर चीता तक पहुंचाने के लिए थी, पूरे स्टिंग का वीडियो भी रिकॉर्ड किया गया है, हालात गंभीर होते एडीजी ने एएसपी डॉ राजीव प्रचार और नगर निगम आयुक्त को पत्र भेजकर दलालों पर कार्रवाई और मृतकों के परिजनों के लिए उचित व्यवस्था के निर्देश दिए हैं, एक रिपोर्ट हाईकोर्ट भी भेजी जाएगी कार्रवाई जिला एसोसिएशन न्यायाधीश आरपी सोनी के नेतृत्व में की गई 

सेक्टर-3 मोक्ष धाम : एडीजे सरकार ने बताया कि सेक्टर 3 शमशान पर चौकीदार या कोई जिम्मेदार व्यक्ति नहीं मिला, लोगों से पूछताछ पर सामने आया कि यहां पर श्यामलाल नामक चौकीदार हैं, जोधा संस्कार भी करवाता है वही राजेश बोराना नाम का युवक बैठा था, श्यामलाल को फोन किया तो राजेश ने कहा कि उसका फोन नहीं लगेगा

राजेश ने काम पूछा तो एडीजे ने कहा कि कोरोना से रिश्तेदार की मौत हो गई है, अंतिम संस्कार करना है राजेश ने कहा कि ₹15000 लाओ, दाह संस्कार कर देंगे सामान्य सब के ₹3000 लगते हैं एडीजी ने कहा कि रजिस्टर में भी तो दर्ज करना है तो राजेश ने कहा कि मेहता और श्याम से बात करके इंद्राज करवा देगा

आप कागज पर मृतक का नाम और विवरण लिख कर दे देना फिर राजेश ने एडीजे को नंबर दिया और कहा कि सोच विचार करके इस नंबर पर फोन करना, राजेश ने बीए एडीजे के नंबर लिए टीम वहां से सेक्टर -13 शमशान पहुंची तो राजेश का फोन आया पूछा कि अंतिम संस्कार करवाना है या नहीं, एडीजे ने रुपए कम करने के लिए आग्रह किया तो जवाब मिला कि रुपए तो इतनी ही लगेंगे, लकड़ियों का खर्च भी आपका ही होगा ,हम एंबुलेंस से सब उतार कर चिता पर रख देंगे अंतिम क्रियाओं में भी साथ देंगे एडीजे चित्रकार ने कहा सोच कर बताते हैं फिर बात नहीं हुई,

अंत्येष्टि में भी दलाली -मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के लिए पैसों की मांग

सेक्टर -13 मोक्ष धाम :  मृतक का दाह संस्कार करने के लिए ₹2100 मांगे पूछने पर जवाब मिला यहां चार पीढ़ी से हमारा कब्जा है – सेक्टर 3 से एडीजे सूत्र कार सेक्टर-13 श्मशान घाट पहुंचे वहां एक व्यक्ति मिला, जिसने गले में परिचय पत्र डाल रखा था बातचीत में उसने बताया कि कोरोना मृतक का दाह संस्कार करने के ₹2100 लगेंगे,

एडीजे चित्रकार ने सवाल किया कि यह रुपए किस बात के लिए रहे हो तो उसने जवाब दिया कि हमारा इस अनशन पर चार पीढ़ियों से कब्जा है, न्यायाधीश ने उसका परिचय पत्र देखा तो सामने आया कि वह नगर निगम से मनोनीत नहीं था परिचय पत्र पर इंडियन ऑयल लिखा था जो अपने ग्राहकों को अटेंड करने वाले कर्मचारी के लिए जारी किया गया था नाम इंद्रप्रकाश गुसर (सफाई कर्मी) नाम अंकित था

एक दिन पहले ही डिप्टी मेयर सिंह भी ने अशोक नगर में लगाए थे 5 निगम कर्मी : 1 दिन पहले ही अशोकनगर मौसम पर ऐसी ही अवैध वसूली पर नगर निगम ने बुधवार को 5 कर्मचारियों की टीम गठित की थी, इस टीम का काम है कि अंतिम संस्कार के लिए आ रहे शवों के परिजनों से अवैध वसूली कौन करता है, उन्हें धर-पकड़ना-अंत्येष्टि में भी दलाली -मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के लिए पैसों की मांग

शिकायत पर डिप्टी मेयर पारस सिंघवी भी पहुंचे थे, उन्होंने बताया था कि कुछ लोग रुपए लेकर अंतिम संस्कार करवा रहे हैं सिंघवी ने निगरानी और आमजन की सहायता के लिए कर्मचारी तैनात किए थे, बता दें कि निगम ने एमबी चिकित्सालय और एस आई सी अस्पताल से कोरोना मुर्दों के साथ मोक्ष धाम तक पहुंचाने के लिए पांच निशुल्क एंबुलेंस भी लगा रखी है- तथा शहर के हर मोक्ष धाम के मेन गेट के ऊपर बोर्ड पर साफ- साफ लिखवाया गया है, की अंतिम संस्कार करने के लिए अगर कोई भी व्यक्ति आपसे पैसे की मांग करें तो आप उसकी शिकायत इस नंबर पर कर सकते हैं

देवेंद्र कुमार टांक  E-समाचार.इन (जनता की आवाज)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *