तीसरी लहर से मुकाबले हेतु महाराष्ट्र- गुजरात ने बढ़ाया हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर

0
47

हेल्थ रिपोर्ट/ नई दिल्ली/ महाराष्ट्र/ गुजरात/ ई समाचार मीडिया/ बेतवा भूमि समाचार/ देवेंद्र कुमार टाक : जैसे तैसे कोरोना की दूसरी वेब यानी डेल्टा वेरिएंट पर देश एवं राज्यों ने कुछ एक हद तक काबू तो पा लिया है परंतु देश में तीसरी वेब आने का खतरा और भी गहरा होता जा रहा है-तीसरी लहर से मुकाबले हेतु महाराष्ट्र- गुजरात ने बढ़ाया हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर

तीसरी लहर से मुकाबले हेतु महाराष्ट्र- गुजरात ने बढ़ाया हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर

कहीं राज्यों में तो करोना कि तीसरी लहर के संक्रमण की पुष्टि भी की गई है- कोरोना के इस वैरीअंट को वैज्ञानिकों ने    “ डेल्टा प्लस वैरीअंट” नाम दिया है- कोरोना की दूसरी लहर इतनी घातक थी कि देश के सभी राज्यों का मेडिकल एवं हेल्थ सिस्टम चरमरा गया था

इसको देखते हुए लगभग सभी राज्यों ने अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने शुरू कर दिए हैं, तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर सबसे ज्यादा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर महाराष्ट्र और गुजरात में बढ़ाए गए हैं, वहीं दूसरी ओर इस मामले में यूपी और बिहार सबसे पीछे चल रहे हैं, अस्पतालों ( कोविड सेंटर) की संख्या को अगर छोड़ दे तो दूसरे अन्य सभी मापदंडों पर सबसे ज्यादा बढ़त दर राजस्थान में दर्ज हुई है

इनमें ऑक्सीजन प्लांट, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर की संख्या शामिल है, आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े और छोटे 7 राज्यों में हमारे संवाददाता ने यह पता लगाया कि तीसरी लहर से मुकाबले के लिए राज्य कहां तक है, सरकारी और निजी अस्पताल ( कोविड सेंटर) की संख्या कहां कितनी बढ़ी हैं, ऑक्सीजन प्लांट, आईसीयू, वेंटिलेटर एवं दवाओं की उपलब्धता की स्थिति क्या है

पता चला कि कोविड के इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों में सैंटरो की संख्या में सबसे ज्यादा 54.54% की बढ़ोतरी हिमाचल प्रदेश में हुई है, दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ तीसरे नंबर पर है, बिहार में सरकारी अस्पताल और कोविड सैंटरो की संख्या में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है

जबकि यूपी में मात्र 1.7% अस्पताल ही बढ़ाए गए हैं, प्राइवेट अस्पतालों की संख्या सबसे ज्यादा महाराष्ट्र (42.35%) में बढ़ाई गई है, जबकि 41.17% बढ़त के साथ गुजरात दूसरे नंबर पर हैं, यूपी और बिहार में बढ़त शुन्य ही रही हैं, ऑक्सीजन प्लांट की संख्या गुजरात में सबसे ज्यादा 1566.66 बढ़ी है

यहां कोरोना से पहले ऑक्सीजन के 24 प्लांट ही थे, जो बढ़कर अब 400 हो गए हैं, पहली लहर में सबसे ज्यादा वेंटिलेटर महाराष्ट्र में उपलब्ध थे, यहां इसकी संख्या 10629 थी, जो अब बढ़कर 12863 हो गई है, दूसरे नंबर पर गुजरात रहा है, यहां 7 हजार वेंटिलेटर से बढ़कर 15 हजार वेंटिलेटर हो गए हैं

पीएम केयर्स फंड से अगले दो माह में लगेंगे ऑक्सीजन प्लांट : जनवरी में 32 राज्यों के 162 अस्पतालों में पीएम केयर्स फंड से कुल 551 ऑक्सीजन प्लांट को मंजूरी दी गई थी, यूपी में अब तक 114 प्लांट शुरू हो चुके हैं महाराष्ट्र में आज तीन हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है, गुजरात में 11 प्लांट लगने जा रहे हैं इनमें एक शुरू हो चुका है-तीसरी लहर से मुकाबले हेतु महाराष्ट्र- गुजरात ने बढ़ाया हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here