शहर में चोरों के बढ़ते हौसले- दिनदहाड़े दो महिलाओं की लूटी चेन

0
59

क्राइम रिपोर्ट/ उदयपुर/ ई समाचार मीडिया/ बेतवा भूमि समाचार/ देवेंद्र कुमार टाक : शहर में लूट और चोरी की वारदात आ बहुत बढ़ गई है- चोरों का हौसला इतना बढ़ गया है कि आजकल खुलेआम बीच बाजारों में लोगों से लूटपाट करने लग गए हैं-शहर में चोरों के बढ़ते हौसले- दिनदहाड़े दो महिलाओं की लूटी चेन

इससे पुलिस प्रशासन पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं, क्या शहर की पुलिस जनता की रक्षा करने में नाकाम साबित हो रही हैं, क्या चोरों – लुटेरों में पुलिस का डर खत्म हो गया है, या पुलिस इन चोरों पर कोई कार्यवाही नहीं करना चाह रही है- सवाल तो कहीं है पर इसके जवाब शायद ही किसी को अब तक मिले हैं और आगे शायद ही मिलेंगे

शहर में चोरों के बढ़ते हौसले- दिनदहाड़े दो महिलाओं की लूटी चेन

शहर में बड़ी पाल, रानी रोड जैसे पर्यटन स्थलों पर दिनदहाड़े लूट की वारदातों के बाद बदमाशों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि मंगलवार को शहर के सुखेर और प्रताप नगर थाना क्षेत्र में मॉर्निंग वॉक पर निकली महिलाओं से चेन लूटकर ले गए-शहर में चोरों के बढ़ते हौसले- दिनदहाड़े दो महिलाओं की लूटी चेन

वही शहर में वृद्धा से जेवर उतरवा लिए शर्मनाक बात तो यह है कि चेन लुटेरे महिला से चेन लूट रहे थे तब महिला ने 18 सेकंड तक संघर्ष किया वही आसपास खड़े लोग तमाशा देखते रहे परंतु किसी ने भी हिम्मत करके इस महिला को बचाने के लिए लुटेरे से संघर्ष करना वाजिब नहीं समझा, इसके साथ ही पुलिस पर भी बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं कि दिनदहाड़े शहर में आकर यह हो क्या रहा है- शहर की जनता क्यों सुरक्षित नहीं महसूस कर पा रही हैं

आइए आपको सुनाते हैं आप बीती उन महिला की जिनसे लुटेरों ने चेन लूटी :

1. कृष्णा कुंवर : कृष्णा कुमार कहते हैं कि क्या शहर की हिम्मत मर गई है, जो मुझे कोई बचाने आगे नहीं आया सब तमाशा बिन बनकर तमाशा देखते रहे और लुटेरों ने मुझसे सोने की चेन लूटकर भाग गए- मैं सुंदरवास के वर्धमान नगर स्थित अपने घर से रोज की तरह मंगलवार सुबह 5:00 बजे सहेली के साथ वह पर निकली थी

वापसी में बोहरा गणेश जी के दर्शन किए शंका हुई कि दो युवक स्कूटी से पीछा कर रहे हैं मंदिर से निकले और कुछ दूर चली ही थी कि आदर्श डेरी के पास एक युवक ने पीछे से जब तुम्हारा, मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ ली है, पहले तो सहेली भी मेरा साथ देती रही

लेकिन बदमाश ने चाकू घोंप ने की धमकी दी तो वह पीछे हट गई तभी एक युवक वहां से गुजरा, लेकिन रुका नहीं पास पास में ही एक महिला और व्यक्ति खड़े थे, मैं मदद को चिल्लाती रही लेकिन वह आगे नहीं आए मैं बदमाश को पूरी ताकत के साथ पकड़ रही थी, तभी पीछे से उसका साथी स्कूटी पर आया पहले वाले बदमाश ने मुझे जोर से धक्का दिया

मैं सड़क पर गिर पड़ी और वह चोर ले गए पूरी वारदात में ऐसा लगा मानो शहर के लोग की हिम्मत मर गई है, कोई मुझे बचाने आगे नहीं आया मगर एक भी शख्स आगे बढ़ता तो हो सकता मेरी चैन भी बच जाती और बदमाश भी पकड़े जाते, लानत है ऐसे लोगों पर जब किसी पर अत्याचार होता हुआ देख कर चुपचाप खड़े रहते हैं

2. मधु सेठ पत्नी सुभाष जी जैन : 67 वर्षीय बुजुर्ग मधु सेठ कहती हैं कि मुझे क्या पता था कि दादी कहकर मुझे बुलाने वाले ही मेरी चैन लूट कर भाग जाएंगे- मैं न्यू भूपालपुरा में आर्बिट अपार्टमेंट्स फ्लैट से शाम 4.30 बजे काम से निकली लौटते समय और अपार्टमेंट राम वाटिका के पास दो लड़के आए और रास्ता पूछा

कहां मैं बिहार से हूं दादी मेरे मालिक ने मुझे मारपीट कर नौकरी से निकाल दिया है और 9 माह का वेतन भी नहीं दिया, आप मदद करो मैंने कहा कि मेरे पास पैसे नहीं है, वह दादी- दादी करते हुए बोले आप बुजुर्ग हैं, जेवर उतारकर रुमाल में रख लीजिए, कोई लूट लेगा, 7 तोले की सोने की चूड़ियां और चैन खुलवा लिए, फिर रुमाल में बांधकर मुझे दिए आगे जाकर देखा तो जेवर नहीं थे उसमें जेवर के ही वजन के 2 बड़े पत्थर रख दी है

कृपया सभी जन मास्क लगाए।  सोशल दुरी रखे।  बार – बार अपने हाथों को साबुन या सेनेटाइजर साफ़ करिये। भीड़ – भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचिए। अपना और अपने परिवार वालों का अपने बच्चो का ख्याल रखिये।  स्वस्थ्य रहिये – सुरक्षित रहिये।

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक   E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here