अहिंसा मार्च में उमड़ा उदयपुर – युवा पीढ़ी ने दिया शांति और अहिंसा का संदेश

0
36

उदयपुर, 3 अगस्त। शांति एवं अहिंसा निदेशालय द्वारा उदयपुर में चल रहे संभाग स्तरीय तीन दिवसीय गांधी दर्शन आवासीय प्रशिक्षण शिविर का अंतिम दिन अहिंसा मार्च के नाम रहा। बुधवार को ही सुबह-सुबह ही देशभक्ति की स्वर लहरियों व रामधुन के साथ विभिन्न आयुवर्ग के साथ बड़ी संख्या में युवाओं का रैला सड़कों पर निकला तो लेकसिटी की फिज़ा गांधीमय हो उठी और चारों तरफ शांति और अहिंसा का संदेश प्रतिध्वनित हुआ। यह अहिंसा मार्च शहर के गांधी ग्राउण्ड से शुरू होकर नगर निगम स्थित शहीद स्मारक पर थमा-अहिंसा मार्च में उमड़ा उदयपुर – युवा पीढ़ी ने दिया शांति और अहिंसा का संदेश

अहिंसा मार्च में उमड़ा उदयपुर - युवा पीढ़ी ने दिया शांति और अहिंसा का संदेश

इस अहिंसा मार्च को गांधीवादी विचारक कुमार प्रशांत, अनुजा निगम आयोग अध्यक्ष व राज्यमंत्री डॉ.शंकर यादव व संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट, सतीश राय, धर्मवीर कटेवा, मनीष शर्मा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर कलेक्टर ताराचंद मीणा, एसपी विकास शर्मा, सीईओ मयंक मनीष, गांधी दर्शन समिति संयोजक पंकज कुमार शर्मा, एसीईओ विनय पाठक सहित बड़ी संख्या में अधिकारी कर्मचारी भी मौजूद रहे। गांधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर के संभागियों, गांधीवादी विचारकों के नेतृत्व में उदयपुर के विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थियों,विभागीय अधिकारियों, विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ शहर के प्रबुद्धजनों व युवाओं ने हजारों की तादाद में तिरंगों के साथ इस भव्य अहिंसा मार्च में भागीदारी निभाते हुए शांति, अंहिसा के साथ सद्भावना का संदेश दिया।

बच्चे बने गांधी, चरखे का हुआ जीवन्त प्रदर्शन:
इस अंहिसा मार्च में शामिल हुए कई बच्चों ने महात्मा गांधी का स्वरूप धारण कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया और मार्च की अगुवाई की। इसी तरह इस अहिंसा मार्च में बच्चों द्वारा चरखे का जीवन्त प्रदर्शन किया गया था तथा कई बच्चों ने भारत माता, रानी लक्ष्मीबाई एवं अन्य देशभक्तों की वेशभूषा में राष्ट्रप्रेम का संदेश भी दिया। इस मार्च में बड़ी संख्या में बच्चे तिरंगे थामे चल रहे थे तो गांधीवादी विचारकों के साथ कई प्रबुद्धजनों, अधिकारियों व महिलाओं ने भी गांधी टोपी पहन कर गांधी के आदर्शों को आत्मसात करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।

राम धुन के साथ देशभक्ति की स्वरलहरियों से माहौल बना खुशनुमा:
अहिंसा मार्च के दौरान संभागियों द्वारा सम्पूर्ण मार्ग में रघुपति राघव राजा राम की धुन के साथ पुलिस बैंड और कई संस्थाओं के बैंड से निकली स्वरलहरियों ने माहौल को खुशनुमा बना दिया। इसके साथ ही भारत माता के जयकारे और वंदे मातरम की गूंज ने लेकसिटी में आजादी के जश्न जैसा वातावरण दिखाई दिया।

अहिंसा मार्च का एक छोर कोर्ट चौराहा तो दूसरा टाउन हॉल:
गांधी का स्वरूप धारण करे हुए कुछ बच्चों ने अहिंसा मार्च का नेतृत्व किया तो इस खुबसूरत नजारे को देख लग रहा था जैसे स्वयं महात्मा गांधी ही इसका नेतृत्व कर रहे हो। उत्साहित हजारों बच्चों की मौजूदगी से आलम यह था कि अहिंसा मार्च के दौरान चेतक चौराहे से लेकर टाउन हॉल तक सम्पूर्ण मार्ग पर प्रतिभागियों की लाइन लगी हुई थी। इस मार्च का अगला छोर टाउन हॉल पहुंचा तो पिछला छोर कोर्ट  चौराहे पर था। लंबे छोर को देखते हुए इस मार्च को शहीद स्मारक पर प्रवेश के बाद टाउन हॉल का चक्कर कटवाकर पीछे के मार्ग से प्रवेश करवाना पड़ा। इस मौके पर 10 हजार से अधिक लोगों की मौजूदगी शहरभर में चर्चा का विषय रही।

स्काउट गाइड की रही भागीदारी
विशाल अहिंसा रैली में भारत स्काउट व गाइड संगठन से स्थानीय राजकीय एवं निजी विद्यालयों, महाविद्यालयों से 1125 स्काउट्स गाइड्स रोवर्स रेंजर्स और उनके प्रभारियों ने स्काउट गाइड पोशाक में भाग लिया। जिला संगठन आयुक्त स्काउट एवं गाइड सुरेंद्र कुमार पाण्डे एवं विजयलक्ष्मी वर्मा ने स्काउट्स गाइड्स के दल का नेतृत्व किया।

उदयपुर में तीन दिवसीय संभाग स्तरीय गाँधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर का भव्य समापन – लेकसिटी में गांधीवादी विचारक बोले, जन-जन में जागृत हो गांधी का दर्शन
उदयपुर, 3 अगस्त। शांति एवं अहिंसा निदेशालय द्वारा उदयपुर में चल रहे तीन दिवसीय गाँधी दर्शन आवासीय प्रशिक्षण शिविर का बुधवार को उदयपुर के महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय सभागार में समापन हुआ। समापन समारोह में वक्ताओं ने महात्मा गाँधी के जीवन मूल्यों पर विचार रखें एवं जन-जन में गाँधी दर्शन को जागृत करने की बात कही।

प्रार्थना सभाओं का नियमित रूप से करें आयोजन -कुमार प्रशांत
समारोह के मुख्य अतिथि वरिष्ठ गाँधीवादी विचारक कुमार प्रशांत ने कहा कि वर्धा से गाँधी मार्ग पुस्तक प्रकाशित होती है। यह पुस्तक हर व्यक्ति तक पहुंचे जिससे कि गाँधी के विचारों का प्रचार-प्रसार हो। उन्होंने सभी को गाँधी दर्शन एवं विचारों को अपनाने के लिए प्रेरित किया। प्रशांत ने कहा कि वार्तालाप के दौरान हमेशा सामने वाले को अच्छे से सुनें एवं फिर अपनी बात कहें। उन्होंने कहा कि हर सप्ताह कम से कम दस लोगों से मिले एवं नियमित प्रार्थना सभा का आयोजन कर गाँधी के विचारों को प्रचारित करें। इससे लोगों का गाँधी के प्रति जुड़ाव बढ़ेगा। कुमार प्रशांत ने गाँधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर के लिए उत्कृष्ट व्यवस्थाओं हेतु जिला प्रशासन का आभार व्यक्त किया।

महिला सशक्तिकरण की दिशा में भी कार्य करेगा निदेशालय-मनीष शर्मा
शांति एवं अहिंसा निदेशालय के निदेशक मनीष शर्मा ने समापन समारोह का संचालन किया एवं गाँधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में विभाग महिला सशक्तिकरण पर भी कार्य करेगा। अनुजा निगम आयोग अध्यक्ष व राज्यमंत्री डॉ. शंकर यादव ने गांधी दर्शन की वर्तमान प्रसंगों में आवश्यकता पर प्रकाश डाला और युवा पीढ़ी को इसे आत्मसात करने का आह्वान किया। आरपीएससी के पूर्व अध्यक्ष प्रो. बीएम शर्मा ने अपने वक्तव्य में सभी को गाँधी के विचारों को जीवन में अपनाने की बात कही। शर्मा ने कहा कि हम सद्भाव और प्रेम भाव से रहते हुए लोकतंत्र के मूल्यों को बढ़ावा देना हमारा कर्तव्य है।

देश में सभी व्यक्तियों को समान स्वतंत्रता का अधिकार – प्रो सतीश रॉय
प्रो सतीश रॉय ने कहा कि भारतीय संविधान के प्रावधानों में सांप्रदायिक सदभाव की बात कही है एवं प्रत्येक व्यक्ति को धार्मिक स्वतंत्रता प्राप्त है। उन्होंने विभिन्न अनुच्छेदों के बारे में बताते हुए स्वतंत्रता के अधिकारों का उल्लेख किया और कहा कि हमारे देश में सभी धर्मों को समान अधिकार प्राप्त है। पंकज शर्मा ने आयोजन हेतु मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। वर्धा से आए गाँधी विचारक एवं प्रशिक्षक मनोज ठाकरे ने गीतों के माध्यम से राष्ट्रपिता गांधी के विचारों को बताया एवं समा बांधा। मध्यप्रदेश से आए गांधी विचारक अजमद वाही ने भी विचार प्रस्तुत किये। अंतिम दिन महिला सशक्तिकरण को लेकर भी वक्ताओं ने विचार व्यक्त किये।

संभागियों को प्रमाण पत्र किए वितरित
गाँधी दर्शन शिविर के संभागियों को संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट एवं शांति एवं अहिंसा निदेशालय के निदेशक के हस्ताक्षर युक्त प्रमाण पत्र वितरित किये। इसके अलावा समापन से पूर्व मंच पर फोटो सेशन आयोजित हुआ जिसमें संभागियों ने अतिथियों के साथ फोटो लिए। कार्यक्रम के दौरान सभी जिलों के संयोजकों को स्मृति चिन्ह अतिथियों द्वारा भेंट किये गए। इस मौके पर कलक्टर ताराचंद मीणा, राजेश पंड्îा, पंकज शर्मा, दिलीप नेभनानी आदि ने भी विचार व्यक्त किए।

आज के युग में गाँधी दर्शन है सर्वाधिक प्रासंगिक
मंच से गाँधी दर्शन की अहमियत और आज के युग में इसके प्रासंगिक होने पर वक्ताओं ने विचार व्यक्त किये। वक्ताओं ने गाँधी के प्रमुख विचारों जैसे पाप से घृणा करो पर पापी से नहीं, क्षमादान बहुत मूल्यवान चीज है,  मानवता में विश्वास नहीं खोना, शांति का मार्ग ही सत्य का मार्ग है,  झूठ हिंसा का जनक है, स्वयं को जानने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है खुद को औरों की सेवा में लगा देना आदि संभागियों के सम्मुख रखे। इस दौरान संभाग के समस्त जिलों के महात्मा गाँधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक, जिला सह संयोजक, ब्लॉक संयोजक एवं सह संयोजक सहित अन्य संभागियों ने भी अपने विचार प्रस्तुत किये।

अंतिम दिन हुए विभिन्न आयोजन
गाँधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर के अंतिम दिन बुधवार को प्रार्थना, योग, व्यायाम, गाँधी ग्राउंड से नगर निगम तक अहिंसा मार्च, समापन समारोह आदि का आयोजन हुआ। समापन समारोह तीन कालांश में आयोजित हुआ जिनमें प्रशिक्षकों द्वारा गाँधी दर्शन पर विचार प्रस्तुत किये गए। जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने अंतिम दिन समापन समारोह के दौरान मंच से सभी को उदयपुर आगमन के लिए धन्यवाद् ज्ञापित किया। कलक्टर ने सभी से अपील कर कहा कि मुख्यमंत्री गांधीवादी विचारों के समर्थक हैं और गाँधी के सपनों को साकार करने के लिए कई योजनाएं चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि योजनाओं को सफल करने के लिए हम सभी का कर्तव्य है कि इनका व्यापक प्रचार करें।

गांधी दर्शन शिविर में उदयपुर कलक्टर विशेष सत्र – जन-जन तक पहुंचे महात्मा गाँधी के विचार: कलक्टर
सभी धर्मों में सद्भाव रखें- कलक्टर
उदयपुर, 3 अगस्त। गांधी दर्शन प्रशिक्षण शिविर में बुधवार को जिला कलक्टर ताराचंद मीणा का विशेष सत्र आकर्षण का केन्द्र रहा। इस दौरान उन्होंने गाँधी दर्शन, संविधान की अहमियत, सांप्रदायिक सदभाव, भाईचारा, आदिवासी कल्याण, अहिंसा एवं शांति आदि पर व्यापक विचार प्रस्तुत किये एवं अपने जीवन के अनुभव भी संभागियों से साझा किये।

कलक्टर मीणा ने मंच से वक्तव्य देते हुए कई महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डाला। राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न फ्लैगशिप योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही धर्म निरपेक्षता, शांति एवं अहिंसा पर भी विचार रखे। कलक्टर ने कहा कि हाल ही में घटित कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद शांति व्यवस्था बनाए रखने में आमजन का भरपूर सहयोग मिला, नतीजतन जगन्नाथ यात्रा एवं ईद का शांतिपूर्ण आयोजन सम्पन्न हुआ। शीघ्र ही जी 20 का सम्मेलन भी उदयपुर में प्रस्तावित है। एक बड़ी घटना के बाद निरंतर उदयपुर में ऐतिहासिक कार्यक्रम होना संकेत है कि यहाँ का माहौल बेहद शांतिपूर्ण हैं एवं पहले जैसा है।

धर्म के आधार पर बांटना ठीक नहीं: कलक्टर
जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने कहा कि लोगों को धर्म के आधार पर आपस में बांटना ठीक नहीं है। जिन देशों में विश्व में सर्वाधिक प्रगति की है, उन देशों में धर्म निरपेक्षता का भाव निहित है। कलक्टर ने कहा कि हमारे संविधान निर्माताओं ने हमें संविधान के रूप में एक बहुत खूबसूरत दस्तावेज़ दिया है जो धर्म निरपेक्षता और सर्वधर्म सम्भाव की भावना को बढ़ावा देता है। एक उत्कृष्ट संविधान की बदौलत निम्न समझे जाने वाली जातियों के व्यक्ति उच्च पदों पर उल्लेखनीय सेवाएँ देने के काबिल बन पाएं हैं एवं अस्पृश्यता पर भी आज बहुत लगाम लगी है। इसके अलावा महिलाओं का जीवनस्तर भी सुधरा है एवं देश निरंतर प्रगति कर रहा है।

मिशन कोटडा की दी जानकारी
कलक्टर ताराचंद मीणा ने मंच से मिशन कोटडा की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किस प्रकार के प्रशासन द्वारा पिछड़े आदिवासी क्षेत्र कोटडा के विकास के लिए सभी विभागों के समन्वय से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में रोजगार एवं सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य हुआ है। मुख्य सचिव द्वारा भी इसकी प्रशंसा की गई है एवं इसी तर्ज पर अन्य पिछड़े ब्लॉक्स में भी अभियान चलाया जा रहा है। कलक्टर द्वारा कोटडा में किये गए नवाचारों को सुन सभी ने तालियाँ बजा कर अभिवादन किया।

विशेष कोर्ट कैंप का आयोजन 6 को उदयपुर में
मुख्य सूचना आयुक्त व सूचना आयुक्तों का दल 5 को उदयपुर में

उदयपुर, 3 अगस्त। मुख्य सूचना आयुक्त व सूचना आयुक्तों के विशेष कोर्ट कैंप का आयोजन 6 अगस्त को उदयपुर में किया जा रहा है। इसके लिए मुख्य सूचना आयुक्त व सूचना आयुक्तों का दल 5 अगस्त को दोपहर 3 बजे उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पर पहुंचेगा। यहां से यह दल सर्किट हाउस जाएगा।  6 अगस्त को सुबह 9.30 में सर्किट हाउस में प्रेस वार्ता का आयोजन तथा सुबह 10 बजे से जिला कलक्टर कार्यालय में विशेष कोर्ट कैंप का आयोजन किया जाएगा।

नवोदय विद्यालय में कक्षा 11 में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित
उदयपुर, 3 अगस्त। नवोदय विद्यालय समिति द्वारा सत्र 2022-23 में कक्षा 11 में प्रवेश के इच्छुक अभ्यर्थियों से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। मावली स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय के कार्यवाहक प्राचार्य मोहन कुमार ने बताया कि इच्छुक अभ्यर्थी 18 अगस्त तक नवोदय विद्यालय समिति की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि विद्यालय में संचालित कला संकाय में वर्तमान में 19 रिक्तियां हैं।

ग्रंथ प्रकाशन की वित्तीय सहायता के लिए आवेदन आमंत्रित
उदयपुर, 03 अगस्त। माणिक्यलाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर द्वारा राजस्थान के जनजाति समुदायों के सर्वांगीण विकास के लिए सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक एवं शैक्षणिक उन्नयन से संबंधित उपयोगी शोध कार्यों की मौलिक पाण्डुलिपियों को प्रतिष्ठित प्रकाशकों-मुद्रकों से प्रकाशित करवाने के लिए प्रकाशन सहायता योजनान्तर्गत आवेदन पत्र 30 सितंबर तक आमंत्रित किये गये हैं।

टीआरआई निदेशक एम.एल.चौहान ने बताया कि आवेदक सादे कागज पर प्रकाशित करवाई जाने वाली पाण्डुलिपि मय सारांश (अधिकतम 2000 शब्द), संपर्क सूत्र, पाण्डुलिपि की मौलिकता के प्रमाण पत्र संस्थान में कार्यालय समय में निर्धारित अवधि तक प्रस्तुत कर सकते हैं। साथ ही प्रकाशन की पूर्ण योजनाए प्रकाशन हेतु प्रतियों की संख्या, प्रतिष्ठित प्रकाशक व मुद्रक का नाम और पत्ता, कागज की किस्म, आवरण सज्जा, प्रकाशन की अनुमानित लागत (प्रकाशक का कोटेशन) एवं प्रकाशन में लगने वाला समय, पुस्तक का टाईटल आदि का समग्र विवरण प्रस्तुत करना होगा।

डाक विभाग स्कूली विद्यार्थियों के लिए लाया ‘दीनदयाल स्पर्श योजना’ -कक्षा 6 से 9 के विद्यार्थियों को मिलेगी छात्रवृत्ति
उदयपुर, 03 अगस्त। भारतीय डाक विभाग द्वारा फिलाटेली योजना की पहुँच को बढ़ाने की दिशा में अपने प्रयास को और सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से, डाक विभाग द्वारा ‘दीनदयाल स्पर्श योजना’ के नाम से एक छात्रवृत्ति योजना आरंभ की गयी है।
भारतीय डाक विभाग के उदयपुर मण्डल के प्रवर अधीक्षक किशोर कुमार बुनकर ने बताया कि योजना कक्षा 6 से 9 के विद्यार्थियों के लिए है। इसके लिए संबंधित स्कूल में फिलाटेली क्लब होना चाहिए, यदि किसी केस में स्कूल में फिलाटेली क्लब नहीं भी हो तो विद्यार्थी का फिलाटेली जमाखाता भी मान्य है।

यदि फिलाटेली जमा खाता नहीं है तो यह भी शीघ्र ही खुलवाया जा सकता है। शौक के तौर पर डाक टिकटों के प्रति अभिरुचि तथा इस क्षेत्र में शोध के प्रचार प्रसार हेतु छात्रवृति अर्थात ‘दीनदयाल स्पर्श योजना’ के तहत उन मेधावी छात्रों को वार्षिक छात्रवृति प्रदान करने का प्रस्ताव है, जिनका शैक्षिक रिकॉर्ड उत्तम है, जिन्होंने पिछले अंतिम परीक्षा परिणाम में कम से कम 60 प्रतिशत अंक अथवा उसके बराबर की ग्रेड प्राप्त की हो और जिन्होंने शौक के तौर पर फिलाटेली योजना को अपनाया है। योजना में चयनित छात्रों को 500 रुपए मासिक, एक वर्ष तक (6000 रुपये वार्षिक एक वर्ष तक) छात्रवृति प्रदान की जाएगी, जो कि पुरस्कार विजेताओं को उनके अभिभावकों के साथ संयुक्त खोले गए डाकघर बचत खाते अथवा इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी।

यह रहेगी चयन प्रक्रिया
बुनकर ने बताया कि इस योजना के तहत चयन प्रक्रिया के दो स्तर हैं। पहला फिलाटेली लिखित क्विज़ एवं द्वितीय फिलाटेली प्रोजेक्ट। फिलाटेली लिखित क्विज़ मण्डल स्तर पर 2 सितंबर को आयोजित किया जाएगा, जिसमे 50 बहुविकल्पीय प्रश्न विभिन्न विषयों पर दिये जाएंगे। इस मण्डल स्तर पर आयोजित क्विज़ में चयनित विद्यार्थियों को 28 अक्टूबर तक फिलाटेली प्रोजेक्ट प्रस्तुत करना होगा, जो कि अधिकतम 4-5 पेज, 500 शब्दों व 16 स्टैम्पों के इस्तेमाल की सीमा में प्रस्तुत किया जाना है। इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 16 अगस्त निर्धारित की गई है।  


जिले के 300 गांवों में चलेगा एनवाईके का युवा क्लब विकास अभियान
उदयपुर, 3 अगस्त। युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार की स्वायत्तशासी संस्था नेहरू युवा केन्द्र संगठन उदयपुर द्वारा सभी 20 ब्लॉको में 300 गांव में सघन युवा क्लब विकास अभियान प्रारंभ किया जा रहा है । जिला युवा अधिकारी शुभम पुर्बिया ने बताया कि इस अभियान में नेहरू युवा केंद्र द्वारा जिले 40 सदस्यीय दल गठित किया जा रहा है। यह अभियान दल जिले के 300 ग्रामों में प्रत्यक्ष सघन संपर्क कर ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों, शासकीय अशासकीय कार्मिकों, संस्थाओं एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों तथा युवाओं से संपर्क कर अभियान संदेशों से अवगत कराएगा।

सघन युवा क्लब विकास अभियान में आजादी के अमृत महोत्सव व पर्यावरण संरक्षण के अंतर्गत इन ग्रामों से स्वतंत्रता संग्राम के रन बांकुरों के जीवन को सहेजते हुए उनके सम्मान में वृक्षारोपण करना, हर घर तिरंगा अभियान की जागरूकता बढ़ाना, तथा युवा क्लब व उनके सदस्यों को सोशल मीडिया का प्रशिक्षण आदि का सम्मिलित है। इस अभियान के तहत युवा क्लब व उनके सदस्यों के डेटाबेस को भी अपडेट किया जा रहा है। पूर्बिया ने बताया कि 15 अगस्त तक स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है जिसमें स्वच्छता शपथ, गोष्ठी, स्वच्छता जागरूकता, जनसंपर्क, प्रभात फेरी, स्वच्छ ग्राम अभियान, प्लास्टिक मुक्त गांव, श्रमदान, चित्रकला प्रतियोगिता व क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा-अहिंसा मार्च में उमड़ा उदयपुर – युवा पीढ़ी ने दिया शांति और अहिंसा का संदेश

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक   E–समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

INDIAN GOVERNMNET REGISTERED  (RNI -MPHIN /2020 /35645 )

कृपया सभी जन मास्क लगाए।  सोशल दुरी रखे।  बार – बार अपने हाथों को साबुन या सेनेटाइजर साफ़ करिये। भीड़ –भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचिए। अपना और अपने परिवार वालों का  ख्याल रखिये।  स्वस्थ्य रहिये –सुरक्षित रहिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here