डेल्टा वेरिएंट के कारण सिडनी में 2 हफ्ते का सख्त लॉकडाउन

0
115

एजेंसी/ कैनबरा/ जिनेवा/ वॉशिंगटन/ सिडनी/ ऑस्ट्रेलिया/ ई समाचार मीडिया/ बेतवा भूमि समाचार/ देवेंद्र कुमार टाक : कोरोना का डेल्टा वैरीअंट पूरी दुनिया में चिंता का विषय बना हुआ है, ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के सिडनी, मेलबोर्न, जेनेवा, कैनबरा आदि शहरों में दो हफ्तों का संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है, ऑस्ट्रेलियन एक्सपर्ट का कहना है कि डेल्टा प्लस वेरिएंट बहुत ही घातक है- इस को फैलने से पहले ही रोकना होगा- वरना बहुत बड़ी तबाही मच सकती हैं-डेल्टा वेरिएंट के कारण सिडनी में 2 हफ्ते का सख्त लॉकडाउन

डेल्टा वेरिएंट के कारण सिडनी में 2 हफ्ते का सख्त लॉकडाउन

यह वायरस इंसान के फेफड़े को 5 दिन के अंदर अंदर ही खत्म कर दे रहा है, इस वायरस से संक्रमित व्यक्तियों को सिंटम भी नहीं आते हैं और वायरस अंदर ही अंदर फेफड़ों को खराब कर चुका होता है, जब तक कोरोना की पुष्टि होती है तब तक इंसान के लंग्स काम करना पूरी तरह बंद कर देते हैं

वैज्ञानिक एवं मेडिकल एक्सपर्ट की जांच में यह भी आया है कि डेल्टा प्लस वैरीअंट डेल्टा वैरीअंट से कई गुना ज्यादा घातक एवं प्रभावी है, इससे संक्रमित होने वाले बच्चों पर भी बहुत बुरा असर पड़ रहा है, यह वैरीअंट भारत, ब्रिटेन, अमेरिका आदि देशों में मिलना शुरू हो गया

ऑस्ट्रेलिया में स्थिति को काबू पाने के लिए एवं डेल्टा प्लस वैरीअंट को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 2 हफ्ते का  सख्त लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है एवं वैक्सीनेशन पर सरकार पूरा जोर दे रही हैं- डब्ल्यूएचओ की भी यही सलाह है कि कोरोना की थर्ड वेव को आने से रोका जाए एवं जितना ज्यादा हो सके लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगा दी जाए-डेल्टा वेरिएंट के कारण सिडनी में 2 हफ्ते का सख्त लॉकडाउन

भारत में भी पूरी सिद्धता एवं तेजी से वैक्सीनेशन का काम किया जा रहा है, अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले 3 से 4 महीनों में कोवीशिल्ड और को-वैक्सीन की पहली दोस्त भारत के हर नागरिक को लग चुकी होगी और आईसीएमआर द्वारा लोगों को दूसरी दोष की तैयारी कर रही है एवं बच्चों की वैक्सीन के ऊपर भी ट्रायल जारी है- अनुमान है कि अगस्त के अंतिम सप्ताह तक 10 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी 

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here