ब्रिटेन अनलॉक होने के 1 माह बाद फिर से लॉकडाउन की स्थिति

0
75

एजेंसी/ लंदन/ ब्रिटेन/ ई समाचार मीडिया/ देवेंद्र कुमार टाक : ब्रिटेन में 18 फरवरी के बाद 1 दिन में सर्वाधिक मामले 11000 तक बाहर हो गए हैं, यह कोरोना संक्रमण के तीसरे लहर की दस्तक मानी जा रही है ब्रिटेन में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है गुरुवार को यहां पर 24 घंटे में कोरोना के 11007 नए केस मिले हैं-ब्रिटेन अनलॉक होने के 1 माह बाद फिर से लॉकडाउन की स्थिति-ब्रिटेन अनलॉक होने के 1 माह बाद फिर से लॉकडाउन की स्थिति

जो पिछले 120 दिन में सर्वाधिक हैं, इससे पहले 18 फरवरी को यहां पर 11995 केस मिले, ब्रिटेन में यह केस तब बड़े हैं जब देश को अनलॉक हुए पूरा एक महीना भी चुका है, यहां 17 मई से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई थी, ब्रिटेन के विशेषज्ञों का कहना है कि ब्रिटेन में डेल्टा वेरिएंट के कारण कोरोना केस बढ़ रहे हैं, एक माह में जितने केस मिले हैं उनमें से 90% लोग डेल्टा वैरीअंट की चपेट में आकर संक्रमित हुए हैं

दूसरी ओर इंग्लैंड में डेल्टा वेरिएंट पर हुए अध्ययन ने चिंता बढ़ा दी है, इसके मुताबिक इस वेरिएंट के कारण ब्रिटेन में सिर्फ 11 दिन में ही संकरी मतों की संख्या दोगुनी हो गई है, गुरुवार को आई यह रिपोर्ट इंपीरियल कॉलेज लंदन ने तैयार की है, इसके तहत 20 मई से 7 जून तक 1 लाख घरों से स्वाब टेस्ट लिया गया था, इसमें 15303 लोगों में यह घातक वायरस मौजूद पाया गया

ब्रिटेन के कॉर्नवाल में जी-7 सम्मेलन के बाद 10% केस बड़े, होटल करने पड़े है बंद : इंग्लैंड के कॉर्नवाल में पिछले सप्ताह हुए तीन दिवसीय जी-7 शिखर सम्मेलन के बाद वहां कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं, कॉर्नवाल में 1 हफ्ते में 10 दिन तक नए मामले मिले हैं, 

कॉर्नवाल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण होटलों को बंद करना पड़ा है, वही जी-7 खत्म होने के बाद कॉर्नवाल सम्मेलन में केस बढ़ने के कारणों ने चिंता बढ़ा दी है, क्योंकि सम्मेलन के दौरान नेता कई बार बिना मास्क दिखाई दिए थे, साथ ही उनके बीच सोशल डिस्टेंसिंग भी नहीं थी

ब्रिटेन अनलॉक होने के 1 माह बाद फिर से लॉकडाउन की स्थिति

इंडोनेशिया से बड़ी खबर : इंडोनेशिया में 300 से ज्यादा ऐसे डॉक्टर महामारी की चपेट में आ गए हैं, जिन्हें कोरोना वैक्सीन की खुराक मिल चुकी हैं, इन्हें चीनी वैक्सीन सिनोवेक की खुराक दी गई थी, ज्यादातर डॉक्टर बिना लक्षण वाले हैं, कुछ डॉक्टर ऐसे भी हैं जिनका ऑक्सीजन स्तर काफी कम है, इंडोनेशिया में डेल्टा वैरीअंट के कारण बुधवार को चार महीने बाद 10,000 से ज्यादा के सामने आए हैं, इंडोनेशिया में अस्पताल मरीजों से फिर से भर गए हैं-ब्रिटेन अनलॉक होने के 1 माह बाद फिर से लॉकडाउन की स्थिति

ब्राजील में भी कोरोना का फिर से असर : ब्राजील के वैज्ञानिकों ने बताया कि साओ पाउलो में कोरोना के 19 नए वेरिएंट की पहचान की गई है, इसके चलते ब्राजील में मौतें बढ़ने लगी है, लोग बीमार पड़ने लगे हैं, ब्राजील के जैविक अनुसंधान केंद्र, इंस्टीट्यूट बुटानटन की ओर से यह जानकारी मैं बताया गया है कि इन वेरिएंट्स में  पी.1 ( अमेज़न) स्ट्रे 89.9% मामलों के लिए जिम्मेदार है, इसके बाद यूके वेरिएंट आता है, जो 4.2% कोरोना मामलों के लिए जिम्मेदार हैं

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here