गांव के लोगों की समझदारी व अनुशासन से हारा कोरोना

0
26

हेल्थ रिपोर्ट/ जयसमंद/ उदयपुर/ ई समाचार मीडिया/ देवेंद्र कुमार टाक : कोरोना की दूसरी लहर में शहर से दूर कई छोटे-छोटे गांव भी संक्रमण की चपेट में आ गए मगर एशिया की सबसे बड़ी मानव निर्मित मीठे पानी की जयसमंद झील के बीच स्थित सात टापू के 646 और किनारे बसे 8 गांवों के 6417 लोगों को संक्रमण छू भी नहीं पाया-गांव के लोगों की समझदारी व अनुशासन से हारा कोरोना

गांव के लोगों की समझदारी व अनुशासन से हारा कोरोना

वजह यह है कि इन लोगों ने पूरी ईमानदारी से कोरोना गाइडलाइन की पालना की,हिना के खुद के अनुशासन सही कोरोना इन कोचु ही नहीं पाया, यह लोग अपने अपने टापू से बाहर नहीं निकले, और ना ही किसी बाहरी व्यक्ति को इनके टापू पर आने दिया गया जिसके कारण यहां पर संक्रमण नहीं आ सका

इनको भी मुसीबतें तो बहुत आई, सब्जी नहीं हुई तो प्याज रोटी से काम चलाया, परंतु जिंदगी को महत्व दीया, चाहे कितनी भी मुसीबत आई हो पर यह लोग टापू से बाहर नहीं गए और ना किसी को इनके आने दिया,  सब्जी नहीं मिल पाई तो मिर्च, प्याज व रोटी खाकर जिंदगी गुजारी, कई लोगों को तो राशन भी उपलब्ध नहीं हुआ, लेकिन परिवारों को सुरक्षित रखा यहां तक कि घर का पिसा हुआ आटा ही खाया

आइए हम आपको आज विस्तार से बताते हैं उन सात टापू के ग्रामीण लोगों के बारे में जिन्होंने अपने अनुशासन और दृढ़ शक्ति से कोरोना महामारी को हरा दिया- जो काम शहर के पढ़े-लिखे रहीस लोग नहीं कर सकते वह काम गांव के अनपढ़ ग्रामीणों ने कर दिखाया, वाकई यह काबिले तारीफ है , हम शहर के लोगों को आज इन ग्रामीणों से अनुशासन एवं दृढ़ इच्छाशक्ति के बारे में सीखना चाहिए :

1. बाबा मंगरा : उपसरपंच रतन सिंह, ए एन एम सरोज ने बताया कि राजस्व टापू बाबा मंगरा में 36 मकान है, जिसमें 150 लोग रहते हैं, यहां 20 ग्रामीणों को वैक्सीन लगी हैं यहां कोई भी ग्रामीण संक्रमित नहीं हुआ है

2. भटवाड़ा : बटवाड़ा, बीड़ा टापू पर 14 मकान है, जिसमें 45 लोग रहते हैं वैक्सीन किसी को नहीं लगी और संक्रमित भी कोई नहीं हुआ है

3. भैसों का नामला : भैसों का नामला में 15 मकान है, जिसमें 60 लोग रहते हैं, यहां पर भी व्यक्ति किसी को नहीं लगी है परंतु लोगों के अनुशासन से यहां भी कोई संक्रमित नहीं हुआ

4. भागल मंगरी : भागल मंगरी टापू पर 14 मकान है, जिसमें 98 ग्रामीण रहते हैं संक्रमित को ही नहीं हुआ है वह वैक्सिंग भी किसी को नहीं लगी है, मिदोडा टापू पर 28 मकान है जिसमें 135 ग्राम रहते हैं, 4 ग्रामीणों को वैक्सीन लगी है और संक्रमित कोई नहीं हुआ है

5. मिदोडा मंगर: सरपंच तारा देवी, ए एन एम किरण शर्मा के अनुसार मिदोडा मंगरा टापू पर साथ मकान में 45 ग्रामीण रहते हैं यहां 6 ग्रामीणों को वैक्सीन लगी है और अभी तक कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं है

6. पायरी टापू : सरपंच होमली बाई के अनुसार पायरी टापू पर 30 मकान है जिसमें 110 ग्रामीण रहते हैं यहां पर भी कोई भी ग्रामीण संक्रमित नहीं पाया गया है और यहां किसी को भी वैक्सीन अभी तक नहीं लगी है

7. भील बस्ती टापू : सरपंच चंदा देवी ने बताया कि सालवी टापू पर 20 मकान में 150 लोग व छापर थोरी पर राजपूत बस्ती में 30 मकान में 250 लोग रहते हैं, जहां कोई संक्रमित नहीं पाया गया है और ना ही किसी व्यक्ति को वैक्सीन लगी है, वीर पूरा ग्राम पंचायत रोजगार सहायक भरत शर्मा, पी और देव शंकर ओझा के अनुसार यहां 98 मकान है, जिसमें 400 लोग रहते हैं 27 ग्रामीणों को वैक्सीन लगी है और कोई संक्रमित नहीं है

खेमराज कटारा ने बताया कि लॉकडाउन के चलते टापू वासियों ने कई परेशानियों का सामना किया, मुसीबत होने पर भी लोग टापू से बाहर नहीं निकले, और ना ही किसी को टापू के अंदर आने दिया, यहां तक कि अपने मेहमानों को भी इन्होंने अपने टापू में नहीं आने दिया, लॉकडाउन के दौरान इनको काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा, फिर भी इन लोगों ने हार नहीं मानी दृढ़ इच्छाशक्ति और समझदारी के साथ कोरोना पर पूरी तरह से हरा दिया

देश के हर नागरिक को इन्हीं ग्रामीणों की तरह से समझदारी और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ कोरोना महामारी का मुकाबला करने की जरूरत है, पूरी ईमानदारी के साथ कोरोना गाइडलाइन की पालना करने की जरूरत है, तभी जाकर हम कोरोना वैश्विक महामारी पर काबू पा सकेंगे, आज जो इन ग्रामीणों ने कर दिखाया है वह वाकई तारीफे काबिल है और इन्हीं लोगों से अन्य लोगों को कुछ सीखने की जरूरत है-गांव के लोगों की समझदारी व अनुशासन से हारा कोरोना

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक E-समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here