शहर के अस्पतालों में फायर फाइटिंग सिस्टम वह बिजली व्यवस्था जीरो

0
12

सिटी रिपोर्ट/ रिपोर्टर/ ई समाचार मीडिया/ देवेंद्र कुमार टाक : नगर निगम अग्निशमन दस्ते ने शहर के विभिन्न चिकित्सालय का निरीक्षण किया तो उन्हें फायर फाइटिंग सिस्टम में कई खामियां मिली, नगर निगम आयुक्त हिम्मत सिंह बारहठ ने समस्त अस्पतालों अस्पताल प्रबंधन को इन खामियों को जल्द दूर करने के के लिए अवगत कराया, जिससे फायर फाइटर सिस्टम कार्यरत अवस्था में रहे ताकि आग लगने के दौरान जनहानि नहीं हो-शहर के अस्पतालों में फायर फाइटिंग सिस्टम वह बिजली व्यवस्था जीरो

शहर के अस्पतालों में फायर फाइटिंग सिस्टम वह बिजली व्यवस्था जीरो

नगर निगम महापौर गोविंद सिंह टाक ने बताया कि अग्निशमन अधिकारी राकेश व्यास के नेतृत्व में टीम ने शहर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय, सुपर स्पेशलिटी चिकित्सालय, जनाना चिकित्सालय, महाराणा भोपाल चिकित्सालय स्थित कोविड-19 हॉस्पिटल, ईएसआईसी हॉस्पिटल,गीतांजलि हॉस्पिटल में निरीक्षण कर स्थापित अग्निशमन उपकरणों यंत्रों की जांच की तो कई जगह खामियां मिली

आयुक्त हिम्मत से बाहर 8 व उपमहापौर पार सिंह ने इस पर चिकित्सा चिकित्सालय प्रशासन को अवगत कराते हुए तुरंत इन उपकरणों में सुधार के लिए पत्र द्वारा नोटिस दिया गया, अधिकारियों का कहना है कि यह जांच लगातार जारी रहेगी, इसके बावजूद लापरवाही बरतने वाले अस्पताल के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी

अग्निशमन कर्मियों द्वारा छोटी-  मोटी खामियों को मौके पर ही ठीक किया गया : जिला अग्निशमन अधिकारी राकेश व्यास ने बताया कि निरीक्षण के दौरान लोक निर्माण विभाग के अधिकारी एवं अस्पताल प्रबंधन के अधिकारी भी मौजूद रहे, निगम की टीम द्वारा निरीक्षण में मिली छोटी मोटी खामियों को मौके पर ही ठीक कर दिया गया एवं जो बड़ी बड़ी खामियां हैं उन्हें 24 घंटे के अंदर अंदर ठीक कराने के अस्पतालों को निर्देश नोटिस द्वारा दे दिए गए हैं

इधर विद्युत विभाग के इंजीनियरों और दमकल दल ने शहर के तमाम अफसरों की जांच पड़ताल की जांच में ज्यादातर अस्पतालों में बिजली के बंदोबस्त घटिया मिले जहां बड़े फॉल्ट से चिकित्सा व्यवस्था बाधित होने और आग से भारी नुकसान की आशंका जताई गई 

विद्युत निगम मुख्यालय से मिले आदेश के बाद इंजीनियरों ने अस्पतालों का निरीक्षण किया शुरुआत में एमबी अस्पताल और एसएसबी की व्यवस्था देखने के बाद सोमवार को ईएसआई हॉस्पिटल, हिरण मगरी सेटेलाइट हॉस्पिटल के अलावा निजी क्षेत्र के सुधारों का निरीक्षण किया गया-शहर के अस्पतालों में फायर फाइटिंग सिस्टम वह बिजली व्यवस्था जीरो

कहीं अस्पतालों में व्यवस्थाएं थी जिसके कारण भविष्य में कभी भी बड़ी घटना हो सकती हैं जिससे बड़ी जनहानि होने का अंदेशा भी है, कहीं जनरेटर की पावर अर्थिंग नहीं थी तो कहीं बिजली पैनल के आसपास कचरे का ढेर मिला मधुबन सब डिविजन के ए एन एच पी शर्मा ने बताया कि एक अस्पताल में तो जनरेटर सेट और बिजली पैनल के बीच की जगह पर अस्पताल का कचरा जलता हुआ पाया गया, जबकि जलते कचरे के नीचे से ही बिजली की केबल डाली हुई थी

कोरोना के कहर से शहर के समस्त अस्पताल मरीजों से फूल है, वहां बिजली से संचालित उपकरण से लेकर काफी मात्रा में काम में लिए जा रहे हैं, मरीजों को बचाने के लिए चिकित्सक व उनकी टीम को रोना की तरह खड़ी है लेकिन इससे परे अस्पताल में रख रखाव के अभाव में फायर फाइटिंग सिस्टम से लेकर बिजली के बंदोबस्त खराब हालत में पड़े हैं

देश के अलग-अलग हॉस्पिटल में इसी तरह की खराबी के चलते शॉर्ट सर्किट से कई जगह आग लगी है, और उस आग में कई जनहानि हुई हैं और उपकरण जलकर नष्ट हो गए हैं, इस घटना से सबक लेकर सरकार के आदेश पर जिला प्रशासन ने यहां के अस्पतालों की जांच कराई तो अस्पतालों के घटिया सिस्टम की पोल खुल गई, फायर फाइटिंग सिस्टम के साथ ही बिजली व्यवस्था खराब हालत में मिली

नगर निगम बिजली निगम की टीम ने अस्पतालों का दौरा कर प्रबंधकों को इससे अवगत कराते हुए दूसरी करण के लिए कहा था कि शहर के अस्पतालों में आग की घटनाओं को रोका जा सके, और के रहते अगर आग लग जाती है तो फायर फाइटिंग सिस्टम तरोताजा मिले तो उस आग पर काबू पाया जा सके और बड़ी जनहानि होने से बचा जा सके

देवेंद्र कुमार टांक  E-समाचार.इन (जनता की आवाज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here