लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद

0
22

उदयपुर, 24 मई। जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने कहा है कि लेकसिटी में देश-दुनिया से आने वाले पर्यटक यहां के नैसर्गिक सौंदर्य और शिल्प विरासत को देखने के लिए आते हैं ऐसे में यहां आने वाले मेहमानों के दिल में उदयपुर की एक अच्छी छवि अंकित हो, इस दृष्टि से हमें हमारे सभी पर्यटन स्थलों की दशा को सुधारना होगा। कलक्टर मीणा मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल सहेलियों की बाड़ी के सौंदर्य को निखारने और इसकी दशा सुधारने के लिए आयोजित एक विशेष बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रहे थे-लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद-लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद

लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद

लेकसिटी के पर्यटन स्थलों की दशा सुधारने की कवायद के तहत आयोजित इस बैठक दौरान कलक्टर मीणा ने सहेलियों की बाड़ी में साफ-सफाई, हरियाली को बारहों मास बरकरार रखने, फव्वारों के पानी के सदुपयोग सहित इसके सौंदर्य को निखारने के लिए मौजूद विभागीय अधिकारियों से चर्चा की और कहा कि पुरखों की इस विरासत के सौंदर्य से हर आने वाले पर्यटक के दिल को सुकून मिले इस बात का विशेष ख्याल रखा जावें। कलक्टर ने सहेलियों की बाड़ी के वरिष्ठ अधीक्षक संतराम मीणा को निर्देश दिए कि यहां आने वाले पर्यटकों को बेहतर सुविधाएं दी जावें।


20 लाख रुपयों से बनेगी हेरिटेज लुक में बारादरी
बैठक में कलक्टर ने यहां आने वाले पर्यटकों को सुकून से बैठने के लिए बारादरी का अभाव बताया गया तो कलक्टर ने यहां पर 20 लाख रुपयों की लागत से आकर्षक बारादरी निर्माण को स्वीकृति दी। कलक्टर ने कहा कि बारादरी का निर्माण पत्थरों की सहायता से हेरिटेज लुक में करवाया जाए और मेवाड़ के प्रस्तर शिल्प की इसमें झलक दिखाई दे।


इन कार्यों के लिए भी दी स्वीकृति
बैठक दौरान कलक्टर ने यहां पर रोशनी की व्यवस्था के लिए बिजली मरम्मत और पाईप लाइन इत्यादि जीर्णोद्धार कार्यों के लिए 16 लाख रुपये खर्च करने की भी स्वीकृति दी। इसी प्रकार यहां पर बारहों मास हरियाली बरकरार रखने के लिए गमलों इत्यादि के लिए ग्रीन हाउस निर्माण के लिए भी निर्देश दिए। इसी प्रकार कलक्टर ने फव्वारों से बहने वाले व्यर्थ पानी के लिए पोंड बनाने और इसको रिसाइकिल करते हुए पुनः उपयोग के लिए भी प्रस्ताव तैयार करने को कहा। कलक्टर ने यहां पर्यटन विभाग द्वारा प्रस्तावित सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर भी आगामी दिनों में विचार करने की बात कही।

सिंगल यूज प्लास्टिक आइटम पर प्रतिबंध 1 जुलाई से जिला प्रशासन हुआ सतर्क, कलक्टर ने अधिसूचना की पालना के दिए निर्देश
उदयपुर, 24 मई। भारत सरकार के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की अधिसूचना अनुसार आगामी 1 जुलाई से चिन्हित सिंगल यूज प्लास्टिक आइटम्स के उत्पादन, इम्पोर्ट, स्टोकिंग, वितरण, बिक्री, एवं उपयोग पर रोक रहेगी। इस संबंध में मंत्रालय द्वारा जारी नोटिस की शत-प्रतिशत पालना सुनिश्चित करने हेतु उदयपुर जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है। जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने इस संबंध में निर्देशों की अनुपालना के लिए आमजन से अपील की है और सभी सरकारी कार्यालयों को कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। कलक्टर ने जिले के सभी सरकारी कार्यालयों को प्लास्टिक मुक्त कार्यालय घोषित करने और प्लास्टिक की प्रतिबंधित सामग्री के प्रयोग को प्रतिबंधित करते हुए घोषणा पत्र प्रस्तुत करने के लिए पाबंद किया है।


इन वस्तुओं पर रहेगी रोक
कलक्टर मीणा ने बताया कि इस अधिसूचना के अनुसार प्लास्टिक स्टिक वाले इअर बड्स, गुब्बारों के लिए प्लास्टिक की डंडिया, प्लास्टिक के झंडे, कैंडी, स्टिक, आइसक्रीम की डंडिया, पोलीस्टाइन की सजावटी सामग्री, प्लेट, कप, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, स्ट्रा, टेª, जैसे कटलरी, मिठाई के डिब्बों, निमंत्रण कार्ड एवं सिगरेट पैकेट के इर्द-गिर्द लपेटने/पैक करने वाली फिल्में, 100 माइक्रोन से कम मोटाई वाले प्लास्टिक/पीवीसी बैनर, स्ट्रिर आदि पर रोक रहेगी।


30 जून तक शून्य इन्वेंटरी करने के निर्देश
प्रदूषण नियंत्रण मंडल के संभागीय अधिकारी शरद सक्सेना ने बताया कि इस संबंध में एक नोटिस जारी कर सभी उत्पादनकर्ता, स्टॉकिस्ट, रिटेलर्स, दुकानदार, ई- कॉमर्स, फैरी वाले, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों मॉल, बाजार, शॉपिंग सेन्टर, सिनेमा हॉल, पर्यटन स्थल, विघालय, महाविद्यालय, कार्य स्थल, अस्पताल, होटल व अन्य संस्थाओं व जन सामान्य को सूचित किया गया है कि वे भारत सरकार के नोटिफिकेशन में उल्लेखित समय सीमा के अनुसार चिन्हित सिंगल यूज प्लास्टिक आइटम्स का उत्पादन, स्टोकिंग, वितरण, बिक्री एवं उपयोग बंद कर दें। इसके अलावा सभी संबंधित पक्ष 30 जून तक इस सिंगल यूज प्लास्टिक आइटम की शून्य इनवेन्टरी सुनिश्चित करने की आवश्यक कार्यवाही करें।


उल्लंघन पर होगी कार्यवाही
कलक्टर ने बताया कि इस नोटिफिकेशन के प्रावधानों के उल्लंघन की स्थिति में संबंधित प्रतिष्ठान/व्यक्ति के विरुद्ध पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम 1986 के प्रावधानों के अन्तर्गत कार्यवाही की जायेगी जिसके तहत सामान की जब्ती करने, पर्यावरण क्षतिपूर्ति राशि वसूलने एवं इकाई/व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने की कार्यवाही शामिल है।

टूलकिट्स व अन्य औजार के लिए मिलेंगे 5 हजार रुपये
उदयपुर, 24 मई। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार अब प्रधानमंत्री मुद्रा योजनान्तर्गत अनुसूचित जाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लाभान्वित शिल्पकार-दस्तकार को टूलकिट्स आदि औजार उपलब्ध कराने के लिए 5 हजार रुपये की सहायता दी जाएगी।


अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक गिरीश भटनागर ने बताया कि इसके लिए प्रार्थी राजस्थान का मूल निवासी हो, पूर्व का कोई ऋण बकाया नहीं हो, पहले निगम योजना में लाभान्वित नही हुआ हो। अन्य पिछड़ा वर्ग,अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र हो और जिसने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में ऋण स्वीकृत किया गया है। प्रार्थी को मुद्रा योजना में ऋण स्वीकृति का बैंक प्रमाणीकृत पत्र, टूल किट खरीदने का मूल बिल, बैंक खाते की डायरी, जन आधार कार्ड की प्रति जाति प्रमाण पत्र एवं टुल कीट/औजार के साथ फोटो सहित किसी भी कार्य दिवस में अनुजा निगम कार्यालय  जिला परिषद भवन, कमरा नम्बर 103 से संपर्क कर सकते है।

कलक्टर ने ली जिला स्तरीय निष्पादक समिति की बैठक
जिला रैंकिंग में सुधार पर जताई प्रसन्नता, टॉप 5 में जगह बनाने का दिया लक्ष्य
उदयपुर, 24 मई। जिला स्तरीय निष्पादक समिति की बैठक मंगलवार को जिला कलक्टर ताराचंद मीणा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
जिला कलक्टर मीणा ने जि़ला रैंकिंग में निरंतर सुधार पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि समाचार पत्रों में जिला रैंकिंग में सुधार के समाचार पढ़कर अच्छा लगा किन्तु स्मरण रहे कि यदि रैंकिंग गिरेगी तब भी खबर तो बनेगी ही इसलिये उन्होंने उपस्थित शिक्षाधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि जिले की वर्तमान रैंकिंग को न सिर्फ बनाये रखना है वरन जिले को राज्य में पहले 5 स्थान में जगह बनाने के निरन्तर प्रयास जारी रखने होंगे। गौरतलब है कि जिला रैंकिंग जनवरी में 33, फरवरी में 22,मार्च में 17 व अप्रैल में 10वां स्थान रही है।
ड्राप आउट बच्चों का चिन्हीकरण कर उन्हें विद्यालय से जोड़े
कलक्टर ने आगामी शिक्षा सत्र में ड्राप आउट चिन्हीकरण व चिह्नित बच्चों को विद्यालय से जोड़ने की कार्ययोजना पर काम करने के भी निर्देश दिए। साथ ही विद्यालयों में डीएमएफटी के तहत आवश्यक कार्यों के प्रस्ताव भिजवाने तथा आधार से वंचित विद्यार्थियों के आधार कार्ड बनवाने के लिए आधार मशीन की आवश्यकता वाले स्थानों की समेकित सूची उपलब्ध करवाने के भी निर्देश दिए। बैठक में शिक्षा विभाग के समस्त कार्यों की प्रगति की समीक्षा के साथ विभाग की विभिन्न समस्याओं के समाधान पर चर्चा की गई।


ब्लॉक स्तर पर शैक्षिक नवाचार के लिए प्रस्ताव भेजे-सीईओ
बैठक में जिला परिषद उदयपुर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मयंक मनीष ने ब्लॉक स्तर से शैक्षिक क्षेत्र में नवाचार के लिए ब्लॉक स्तरीय कार्य योजना तैयार कर जिला परिषद को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव स्वीकृत होने पर कार्ययोजना की क्रियान्विति के लिये जिला परिषद द्वारा राशि जारी सकेगी। इस अवसर चिकित्सा विभाग के प्रतिनिधि ने वंचित विद्यार्थियों के कोविड वैक्सीनेशन के लिए शिक्षा विभाग से अपेक्षित सहयोग की बात कही।


इन बिंदुओं पर भी हुई चर्चा
बैठक में नवीन केजीबीवी संचालन, पांचवीं-आठवीं बोर्ड मूल्यांकन, फ्लैगशिप योजना में नवीन महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों के प्रस्ताव, ब्लॉक स्तरीय संदर्भ केंद्र, स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार, आईसीटी लैब, मिड डे मील आदि विषयों पर विस्तृत चर्चा की गई।


’हिलोर’ का विमोचन
इस अवसर पर जिला कलक्टर मीणा ने समग्र शिक्षा उदयपुर द्वारा बालिका शिक्षा की विभिन्न गतिविधियों व उपलब्धियों पर तैयार बुकलेट ’हिलोर’ का विमोचन किया। बुकलेट में वर्ष 2021-22 में संपन्न आत्मरक्षा प्रशिक्षण, साइबर सुरक्षा, मेरी बेटी-मेरा सम्मान, केजीबीवी, मीना-राजू गार्गी मंच इत्यादि गतिविधियों का उल्लेख किया गया है। बैठक में सीडीईओ ओम प्रकाश आमेटा, डाइट प्रिंसिपल पुष्पेंद्र शर्मा, एडीपीसी व प्रारंभिक डीईओ वीरेंद्र सिंह यादव, माध्यमिक डीईओ मुकेश पालीवाल, कार्यक्रम अधिकारी त्रिभुवन चौबीसा, संदीप आमेटा,रश्मि मेहता व ओम प्रकाश विश्नोई सहित विभिन्न ब्लॉक के सीबीईओ व प्रतिनिधि उपस्थित रहें-लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद-लेकसिटी के पर्यटन स्थलों को सुधारने के लिए कलक्टर ताराचंद मीणा की कवायद

रिपोर्ट : देवेंद्र कुमार टांक   E–समाचार.इन (जनता  की  आवाज)

INDIAN GOVERNMNET REGISTERED  (RNI -MPHIN /2020 /35645 )

कृपया सभी जन मास्क लगाए।  सोशल दुरी रखे।  बार – बार अपने हाथों को साबुन या सेनेटाइजर साफ़ करिये। भीड़ –भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचिए। अपना और अपने परिवार वालों का अपने बच्चो का ख्याल रखिये।  स्वस्थ्य रहिये –सुरक्षित रहिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here