दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाला खुद हिंसक बना

0
12

न्यूयॉर्क/ वॉशिंगटन/ अमेरिका : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने बुधवार को वाशिंगटन डीसी में अमेरिकी इतिहास की सबसे शर्मनाक वारदात में से एक को अंजाम दिया है उन्होंने कैपिटल हिल बिल्डिंग पर हमला कर राष्ट्रपति चुनाव के अधिकारी नतीजों की घोषणा के लिए जारी संसद की प्रक्रिया को बाधित किया-दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाला खुद हिंसक बना

दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाला खुद हिंसक बना

राष्ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को दिन में अपने समर्थकों की एक रैली को व्हाइट हाउस के बाहर संबोधित किया उन्होंने फिर चुनाव में धांधली के आरोप लगाया और कहा कि परिणाम स्वीकार नहीं करेंगे इसके बाद हजारों समर्थकों की भीड़ दोपहर 1:00 बजे कैपिटल हील पहुंच गई

उन्होंने वहां पुलिस से धक्का-मुक्की करने के बाद खिड़कियों और फर्नीचर को तोड़ा हाउस नंबर को भी तहस-नहस कर दिया गया इसके बाद कुछ लोगों ने दरवाजे पर सेल्फी ली और हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी के ऑफिस में लिख दिया हम हार नहीं मानेंगे जिन दंगाइयों ने कैपिटल हिल पर हमला किया वह कई हफ्तों से इसकी योजना इंटरनेट पर बना रहे थे

डोनाल्ड जैसे इंटरनेट मंचों पर इन दंगाइयों ने वादा किया कि अगर अमेरिकी कांग्रेस 2020 के चुनाव के परिणामों को अस्वीकार नहीं करती तो सांसद, पुलिस और पत्रकारों के खिलाफ हिंसा हो सकती हैं, 4 दिन पहले एक बातचीत में मंच के एक व्यक्ति ने पूछा था, क्या होगा अगर कांग्रेस सबूतों की अनदेखी करे तो ?

स्मार्ट द कैपिटल एक ने उत्तर दिया इसे 500 से अधिक वोट मिले डीएफआर लैब के एक रिसर्चर  हॉल्ट  ने कहा- चरमपंथियों ने 6 जनवरी के विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के इरादे को बार-बार व्यक्त किया है और अराजकता और हिंसा की ऑनलाइन इच्छा व्यक्त की है-दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाला खुद हिंसक बना

हमने जो देखा है वह वास्तविक जीवन के खतरे में उस हिंसक ऑनलाइन बयान बाजी की अभिव्यक्ति हॉल्ट ने कहा कल के हमले के लिए सबसे पहले कॉल हमें मलेशिया मोमेंट चैट रूम पर मिली जो खून के लिए तैयार होने की बात कर रहा था

आपातकाल : हमले के बाद वॉशिंगटन में 21 जनवरी तक आपातकाल लगा दिया गया इसके तहत सरकार किसी भी समय कर्फ्यू लगाने की क्षमता रखती हैं साथ ही मेट्रो रेल सेवा रात 8:00 बजे तक ही चलेगी बाइडेन को  20 जनवरी को शपथ ग्रहण करना है, जनी उसका शपथ ग्रहण समारोह आपातकाल में होगा वर्जिनियां के गवर्नर लाल शर्मा ने व्हिच स्टेट ऑफ इमरजेंसी जारी की है

उल्लंघन : इमरजेंसी लगने के बावजूद स्थिति तनावपूर्ण थी वॉशिंगटन डीसी पुलिस ने रात 10:30 बजे तक ही 47 कर्फ्यू उल्लंघन की सूचना जारी कर चुकी थी हालांकि मुठभेड़ की खबरें नहीं आई है

पाइप बम : कैपिटल मैदान के पास दो पाइप बम और मॉलोटो चॉकलेट के साथ एक कूलर भी मिला इसके बाद पेंटागन का कहना है कि कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए 1120 ई नेशनल गार्ड सदस्यों को जुटाया गया था यह भी कई दिनों तक तैनात रहेंगे, 54 व्यक्तियों को गिरफ्तार भी किया गया है

हिंसा के बाद बोले ट्रंप – नतीजों से असहमत -राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले लोगों को भड़काया इसके नतीजे में कैपिटल हिल में 4 घंटे रजत आ रही चार लोगों की जान जाने के बाद आखिरकार ट्रंप ने बयान जारी कर लोगों से शांति की अपील की, उन्होंने एक वीडियो संदेश में कहा कि यह मेरे ऐतिहासिक और पहले राष्ट्रपति कार्यकाल का अंत है मैं चुनाव नतीजों से असमर्थ हूं लेकिन 20 जनवरी को सत्ता का हस्तांतरण सही तरीके से हो जाएगा

 ट्रंप के परिवार के सदस्यों ने भी उनका साथ दिया बेटी युवा का ट्रंप ने डोनाल्ड ट्रंप के मैसेज को पोस्ट करते हुए लिखा था अमेरिकन पेट्रियट हालांकि बाद में उन्होंने इसे डिलीट कर दिया उनके समर्थक कुछ रिपब्लिकन नेता भी यह दोहराते रहे कि चुनाव में धांधली हुई है और इसी कारण बाइडेन जीता है

बाइडेन ने कहा यह विरोध नहीं विद्रोह है, कमला ने की शांति की अपील : अमेरिका के नए चुने गए राष्ट्रपति जो बाइडेन कैपिटल बिल्डिंग पर हुए हंगामे को राजद्रोह करार दिया है उन्होंने अपने बयान में कहा कि यह कोई विरोध नहीं है यह एक विद्रोह है, बाइडेन डोनाल्ड ट्रंप से हंगामा खत्म करने की अपील करने के लिए भी कहा

मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आह्वान करता हूं कि वह अपनी शपथ पूरी करें और इस घेराबंदी को खत्म करने की मांग करें, बाइडेन ने आगे कहा मैं साफ कर दूं कि कैपिटल बिल्डिंग पर जो हंगामा हमने देखा हम वैसे नहीं हैं यह वह लोग हैं, जो कान चुनी गई कमला हैरिस ने ट्रंप समर्थकों को कैपिटल बिल्डिंग से पीछे हटने की अपील की थी, उन्होंने सभी अमेरिका वासियों से देश के लोकतंत्र को आगे बढ़ाने में अपनी मदद देने का आह्वान भी किया

कैसे मारी गई असली बाबीट एयरफोर्स में 14 साल रही थी : कैपिटल हिल में ट्रंप समर्थकों के हुनर पर काबू पाने के लिए पुलिस को गोली चलानी पड़ी जिसमें 3 लोगों की मौत हुई उनमें 35 साल की की एशली बाबीट भी शामिल है, एशली 14 साल अमेरिकी एयरफोर्स को अपनी सेवाएं दे चुकी थी, उनके पति ने बताया कि असली ट्रंप की समर्थक थी और उन्हें यकीन था कि चुनाव में धांधली की गई है

एशली की मां ने कहा मुझे समझ नहीं आता कि पुलिस ने गोली क्यों चलाई, डेमोक्रेट और रिपब्लिकन दोनों पार्ट और सौहार्द बनाए रखने की अपील की है, उठा से रिपब्लिकन सांसद मिट रोमनी ट्रम से बेहद नाराज दिखे, उन्होंने कहा देखिए ट्रंप ने क्या किया– उन्होंने देश में बगावत की स्थिति लादी रिपब्लिकन नेशनल कमेटी के मुख्यालय के करीब 2 बम भी बरामद किए गए हैं, यह अमेरिका के लिए बड़े दुख वह शर्म की बात है

न्यूज :- देवेंद्र कुमार टांक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here