सरकार ने अब प्राणवायु के लिए सब्सिडी देने का किया ऐलान

हेल्थ रिपोर्ट/ उदयपुर/ जयपुर/ ई समाचार मीडिया/ देवेंद्र कुमार टाक : अब जो भी संस्था या व्यक्ति ऑक्सीजन प्लांट लगाएंगे उन्हें सरकार की ओर से कुल खर्च की 25% राशि सब्सिडी के रूप में दी जाएगी या उसे अधिकतम ₹50 लाख सरकार देगी, जिससे ऑक्सीजन बनाने वाली कंपनी लगाने के लिए लोग और बड़े उद्योगकर्मी आगे आए और देश में राज्य में ऑक्सीजन की कमी नहीं हो-सरकार ने अब प्राणवायु के लिए सब्सिडी देने का किया ऐलान

मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन के लिए सरकार ने विशेष पैकेज की शुरुआत की है, देश-प्रदेश मैं बढ़ते कोरोना संक्रमण और ऑक्सीजन की मांग के अनुरूप आपूर्ति के लिए यह कवायद की गई हैं, यह शुरुआत का कई उद्योगपतियों ने स्वागत किया है तथा सरकार की सराहना की है कि यह कदम सरकार को कहीं समय पहले उठा लेना चाहिए था जिससे हमारे देश में ऑक्सीजन की कमी दूर हो जाती, परंतु कोई बात नहीं अब भी कुछ नहीं बिगड़ा है अब आज से ही नहीं शुरुआत करेंगे

पैकेज में यह शामिल : प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा ने आदेश जारी किया कि पैकेज में प्रदेश में स्थित ऑक्सीजन निर्माता इकाइयों, नए उद्यमियों द्वारा एक करोड़ रुपए या उससे अधिक का निवेश मेडिकल ऑक्सीजन निर्माता विकास सुविधा स्थापित करने में किया जाता है तो संबंधित इकाइयां उद्यमी द्वारा निवेश की गई कुल पंजीकृत राशि का 25% या ₹50 लाख अधिकतम सीमा तक अनुदान देने का प्रावधान किया है

साथियों पिजन निर्माता इकाइयों की स्थापना के लिए जरूरी नियामक अनुमंतिया फास्ट ट्रेक मोड यानी तेजी से हो सकेगी, राजस्थान माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज 2019 के अधीन जरूरी निरीक्षण से 3 वर्ष तक उसे मुक्त रखा गया है, इसके लिए संबंधित को 30 सितंबर 2021 तक व्यवसायिक उत्पादन शुरू करना जरूरी होगा

सरकार को इसलिए लेना पड़ा यह निर्णय : कोरोना के उपचार में मेडिकल ऑक्सीजन की महत्वपूर्ण भूमिका वह जरूरत है कोरोना के संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या के दृष्टिगत मरीजों को पर्याप्त मेडिकल ऑक्सीजन समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करना राज्य सरकार के साथ निजी अस्पतालों के प्रबंधन के लिए चुनौती हैं

इस चुनौतीपूर्ण व कठिन समय में मरीजों को समय पर पर्याप्त मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरकार ने जनहित में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरकार ने जनहित में मेडिकल ऑक्सीजन निर्माता इकाइयों, उद्यमियों को प्रदेश में मेडिकल उत्पादन प्लांट स्थापित करने के लिए प्रेरित करने के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की गई हैं

उदयपुर में ऑक्सीजन को लेकर यह है स्थिति : उदयपुर में फिलहाल आदर्श व अर्नेस्ट से ऑक्सीजन सप्लाई मिल रही है तो दरीबा स्थित प्लांट से एमबी हॉस्पिटल को ऑप्शन मिल रही है एमबी का ही ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट होने से वहां से भी प्रतिदिन करीब 100 सिलेंडर उस दिन तैयार की जा रही है

जल्द ही आरएनटी में लगेगा दूसरा 20 केएल का लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट : आरएनटी मेडिकल कॉलेज यानी एमबी चिकित्सालय परिसर में 45 दिनों में ही नया 20 केएल का लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट लग जाएगा, इससे मरीजों को राहत मिलेगी 20kl का प्लांट लगने के साथ ही यहां 2200  सिलेंडर रोज पढ़ने की व्यवस्था हो जाएगी

सरकार ने अब प्राणवायु के लिए सब्सिडी देने का किया ऐलान

एक साथ जल्दी 20kl ऑक्सीजन इस प्लान में डाली जाएगी तो 22 सिलेंडर अतिरिक्त मिल जाएंगे इससे बढ़ती कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या के बीच एक बड़ा बैकअप मिल पाएगा, पहले एमबी अस्पताल में 1 के एल का प्लांट स्थित है इससे 100-110 ऑक्सीजन सिलेंडर रोज भरे जाते हैं, परंतु अब 20 केरल का प्लांट लगने से 2200 ऑक्सीजन सिलेंडर रोज उपयोग में लिए जा सकेंगे, अब हमारे पास 2300 ऑक्सीजन सिलेंडर रोज उत्पादन की क्षमता हो जाएगी

20 केएल के नए प्लांट के लिए शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया ने अपने विधायक फंड से स्वीकृत की राशि : महाराणा भोपाल चिकित्सालय के कॉमेडी वार्ड के लिए लिक्विड ऑक्सीजन टैंक के लिए शहर विधायक व विश्व में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया विधायक कोटे से 74 लाख 81 हजार  रुपए स्वीकृत किए हैं,कटे नियर रांची जिला परिषद के जरिए एमपी चिकित्सालय को देने की स्वीकृति दी है

कटारिया ने कहा कि आरएनटी के प्राचार्य डॉक्टर लाखन पोसवाल ने इस टैंक की जरूरत इस समय बताएं, इस पर सीईओ जिला परिषद को यह राशि स्वीकार करने को कहा, राशि को लेकर स्वीकृति मिलते ही हमने तैयारी शुरू कर दी हैं हम 45 दिन में ही ऑक्सीजन प्लांट लग जाएंगे ताकि वो जल्द से जल्द मरीजों को कोई परेशानी ना हो- डॉक्टर लाखन पोसवाल ( प्राचार्य आरएनटी मेडिकल कॉलेज)-सरकार ने अब प्राणवायु के लिए सब्सिडी देने का किया ऐलान

देवेंद्र कुमार टांक  E-समाचार.इन (जनता की आवाज)